बुधवार, 10 दिसंबर 2014

आज विश्व मानवाधिकार दिवस है


 आज विश्व मानवाधिकार दिवस है

कहने को शुभकामनाओ का सिलसिला तो जारी है 
क्योंकि-
आज विश्व मानवाधिकार दिवस है

पर सोचने की बात ये है कि 
हम में से कितने अपने मानवाधिकार की सुरक्षा के प्रति सजग हैं
और उसके लिए कितने प्रयास रत हैं 
चन्द रस्म अदायगी और औपचारिकताओं को पूर्ण करके
क्या बास्तब में समाज के सबसे निचले तबकों 
के मानब अधिकारों की रक्षा कर पायेंगें 
या फिर ये अन्तहीन  सिलसिला यूँ ही जारी रहेगा 

मदन मोहन सक्सेना

1 टिप्पणी:

  1. madan ji..

    aap mere blog tak pahunche aur rchnaa ko srahaa....uske liye tah e dil se shukriya,..

    samy ki kmi aur jiwan ki bhaagdoudi kuh yun he ki ab.,...smay mujhse aage bhaagtaa he aur main uske piche piche...isii bhagadoudi me....apne blog tak pahunchnaa mushkil ho jata he...pr jab kabhi main ussse kuch kadam aage pahunch jaati hun...to yahaan aa jaati hun aur kuch likh leti hun....
    aapki sraahnaa...bahut sukhad ehsaas deti he...aur preerit krti he ki main kuch aur tez bhaagun taaki ..yhaan aksr aati rahun

    aapkaa blog dekhaa aur rchnaayen. bhi...bahut sarthak aur achi rchnaaon ke liye bdhaayi

    उत्तर देंहटाएं